अजमेर राज्य के इतिहास से सम्बंधित प्रश्नोतरी

  1. विग्रहराज चतुर्थ (बीसलदेव) चौहान को विद्वानों आश्रयदाता होने के कारण किस उपनाम से भी जाना जाता था?

(1) कवि बान्धव

(2) कवि मित्र

(3) कवि मनीषी

(4) साहित्य सृजक

Show Answer
(1) कवि बान्धव

2. पृथ्वीराज रासौ की अल्पवयस्कता के दौरान शासन कार्य में उसके प्रधानमंत्री का सहयोग व मार्गदर्शन रहता था। ये प्रधानमंत्री कौन थे?

(1) कदम्बदास/कैमास

(2) चन्द्रबरदाई

(3) कर्पूरीदेवी

(4) परमाल देव

Show Answer
(1) कदम्बदास/कैमास

3. निम्न में से कौन पथ्वीराज चौहान ततीय के समकालीन शासक  नहीं था?

(1) कन्नौज का गहड़वाल शासक जयचन्द्र

(2) गुजरात का चालुक्य नरेश भीमदेव द्वितीय

(3) गौरप्रदेश का शासक मोहम्मद गौरी

(4) दिल्ली सुल्तान इल्तुतमिश

Show Answer
(4) दिल्ली सुल्तान इल्तुतमिश

4. रणथंभौर दुर्ग पर दिल्ली सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी के आक्रमण अजमेर-हाड़ौती, जालौर-नाडौल करने का मुख्य कारण क्या था?

(1) रणथंभौर शासक हम्मीरदेव द्वारा अलाउद्दीन के विद्रोही सैनिक नेता मुहम्मद शाह को शरण देना।

(2) हम्मीरदेव द्वारा अलाउद्दीन खिलजी के अधिकार वाले बयाना के दुर्ग पर कब्जा कर लेना

(3) हम्मीरदेव चौहान की सुन्दर पत्नी को पाने की खिलजी की लालसा।

(4) उक्त सभी।

Show Answer
(1) रणथंभौर शासक हम्मीरदेव द्वारा अलाउद्दीन के विद्रोही सैनिक नेता मुहम्मद शाह को शरण देना।

5. चौहानों की उत्पत्ति ऋषि वशिष्ट द्वारा आबू पर्वत पर किये गये अग्निकुंड से हुई थी। इस मत के समर्थक कौन-कौन हैं?

(1) पृथ्वीराज रासौ, मुहणौत नैणसी व सूर्यमल्ल मिश्रण

(2) पृथ्वीराज रासौ, पं. गौरी शंकर हीराचंद ओझा व दशरथ

(3) पृथ्वीराज रासौ, कर्नल जेम्स टॉड व सूर्यमल्ल मिश्रण

(4) उक्त सभी।

Show Answer
(1) पृथ्वीराज रासौ, मुहणौत नैणसी व सूर्यमल्ल मिश्रण